Saturday, 20 January 2018

Republic Day Speech In Hindi- 26 January 2018 Speech In Hindi

Republic day speech in Hindi : hey folks welcome back to the my blog and here i am goging to share something awesome items with you so keep your mind here. now only 21 days left for republic day 2018 so i hope you prepared for for republic day programs if not then try this 26th january republic day speech in hindi because this republic day speech in hindi 2018 is the awesome speech which you can use in any party or school or college competition.


 Republic Day Speech In Hindi 2018


 Republic Day Speech In Hindi- 26 January 2018 Speech In Hindi
 Republic Day Speech In Hindi 


republic day anchoring speech in hindi:-


—-26 जनवरी समारोह शुरू—-
न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं
जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं.
मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है.
की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है……
में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो…
लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो||
Anchor One:- Yaha par aj upasthit hue sabi deviyo aur sajjan, aamantrit atithi gan, adhyapak avam adhyapikaye, humhare school ke sabhi vidhyarthiyo ko jgantantra diwas ki hardik subhkamnaiye. Hum yaha keval 26 jan manane ki liye hi nhi aye hai, balki hum aj sab yaha upasthit hue hai apne tirange ko sammaan dene ke liye, samman har us jawan ko jo seema par baitha hai, samaan har us krantikari ko jiski wajah se hum savatantra hai,
Anchor 2:- samman desh ke har us nagrik ko jo apne andar aj bhi, azadi ke itne saal baad, apne dil me deshbhakti, desh prem ki bhawana rakhta hai. Me (anchor 1 ka naam) and mere mitra avam sehpathi (anchor 2 name) aur humhara pura vidhyalaya parivaar ap sabhi ka (school ka naam) me hardik swagat karte hai.
Anchor 1: ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता
—Deep Prajawalan karyakaram—
Anchor 2:-“Tamso Maa Jyotirgamaya. Shrii Saraswatii Namahstubhyam Varade Kaama Ruupini
Twaam Aham Praarthane Devii Vidyaadaanam Cha Dehi Me”
Anchor 2:-Ab hume is karyakaram ka shubh aarambh maa sarasvati ka aashirwad lekar krenge. Me sabhi upasthik athitigano se manch par aakar apne kar kamlo se jeep prajawleet karne ka agrah karta hu. (Sabka naam lekar stage par bulaye).
—Deep prajawleet hone ke baad.–
—-DURGA VANDANA—
Anchor 1: “YA DEVI SARVA BHUTESHU ,SHAKTI ROOPEN SANSTHITHA,
NAMASTASYEI NAMASTASYEI,NAMASTASYEI NAMO NAMAH”
Jaise ki ap sabhi log jante hai durga sakhti ka prateek hai. Durga woh hai jo sabhi kasto ka nash kare. Humhara aisa manna hai ki har ladki me durga ka parteek.
Anchor 2: wah kya baat kahi hai. Aur sahi kaha hai kyuki wahi to jindagi deti hai, wahi maa hai, wahi dost bhi hai, wahi behan hai, to nari ka samman ko karna hi chahiye sabhi ko. isliye nahi ki wo naari hai, isliye kyuki wo shakti hai.
Anchor 1: Naari ke samman me 4 panktiya kehna chahuga…
Nari Tu Mahan Hai
Tera Bhi Abhiman Hai
Shakti Ka Tu Roop Hai
Tujh Mein Bhi Bhagwan Hai
Nari Tu Mahan Hai
Anchor 2: Ye to bus shuruwat hai abhi agee agee dikhaiya hota hai kya..
Script (Dance ke liye):-
  1. To chaliye apko le chalti hai kasmir ki vadiyo me jana 6 kaksha ke pyarai ladkiya apko kasmiri nritya dikhaigi.
  2. Humhara agla karkyakaram hoga jo samarpit hai desk ke jawano ko. To chaliye, ab bina deri kiye prarabn karte hai is fauji geet ko..
{Note:- Programs ko ap apne hisab se set kar sakte hai.}
–Speech—
Ab me pradhanachariya ji se anurodh karta hu ki manch par akar kuch anmol shabd humhre sath bate.
–Ending–
Anchor 1:- Waha kya diva, tha, ab is mod par akar lagta hai ki 26 jan ka din sakaar hua. Kya pratibha hai vidhyartiyo me.
Anchor 2:- Jab vidhyalaya hi itna pratibhwan hai to vidhayarthi bhi pritibhan hoge hi. Yahi to garima hai is vidhyalaya ki.
Anchor 1:- Ab kyuki hum samapti ki aur bad rhe hai, me ap sabhi lo ka dhyawad karna chahta hu jo apne yaha akar is manck ki shobha me 4 chand laga diye. Me apne mukhya atidhi ka bhi dhyawad karta hu jo unhone yaha akar humari aur humare vidhyalaya ki shobha badai.
Anchor 2:- Dhanyawad ap sabi ka, par jane se pehle desh ki shan and maan me 4 shabd kehna chahuga.
Jo Lada Tha Sipaahiyon Ki Tarah
Aisa Bharat Mein Koi Baadshah Na Hua
Rooh To Ho gayi Thi Tann Se Judaa
Haath Talwaar Se Judaa Na Hua..
Bharat Mata Ki Jai!!!!
Bharat Mata Ki Jai!!!!
Bharat Mata Ki Jai!!!!
[END OF CEREMONY]


republic day celebration speech in hindi :-


Aap sabhi jante ho ki gadtantar divas 26 January ko mania jata hai. 26th January 1950 ko humare desh bharat ka savidhan lagu hua tha is din ko hum 26 january Gadtantar divas ke rup me mnate hai.Is varsh hum bharat ka 69th Gantantra Diwas mnayenge. Gantantra Diwas hum sabhi ke liye bhot hi garvpurn anam smanye hai. Hmara desh Bharat azaad hua tha 15 August, 1947 ko. Na jaane kitne veero ko apne jaan qurban karni padi humein yeh azaadi dilwane ke liye. Azaadi ke baad zaroorat thi humein, apne desh ke savidhaan ki yani ke constitution ki. Or hamare desh Bharat ka savidhaan likhe Late Dr. Bhim Rao Ambedkar ji ne. Hmara ye savidhaan astitav mein aaya 26 January, 1950 ko. Is se pehle Bharat mein Government of India Act (1935) lagu tha. To hiss liye hum har saal 26th January ko Republic Day ke roop mein manaate hn. Yeh rashtriye tyohaar hamaare desh ke liye gorav ka parteek hai. Or yeh desh bhakti ki bhawna se juda hua hai…!!


republic day college speech in hindi :-

सबसे पहले अपनी जनता को नमस्ते करे और बाद में अपने भाषण शुरू करे | जब भाषण दे रहे हो तब अपने हावभाव पर भी ध्यान दे क्योकि एक हावभाव  भी ऑडियंस के साथ बातचीत करते है, गलत हावभाव देने वाला असभ्य माना जाता है | भाषण को स्टार्ट करने से पहले इन बातो पर विशेष ध्यान दे | कुछ लोग बिना सोचे समझे बोल ते है जो उनकी छवि को ही ख़राब करते है , इसलिए जो बोलो वो सभ्य और आदर देके बोलो |
गणतंत्र दिवस बहुत जल्द आने वाला है , इस गणतंत्र दिवस हमे कुछ विशेष कदम देना चाहिए | भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 में लागु हुआ था और अब जो आने वाला है , वह ६७ वा संविधान होगा | अब सोचना यह है की ऐसी दिन ही क्यु हमारा संविधान लागु किया गया था क्योकि की आजादी मिलने से पहले हमारे हेरोंस ने २६ जनवरी को संविधान दिवस मनाया था फिर आजादी मिलने के बाद हमारा सही संविधान 26 जनवरी 1950 लागु हुआ | ये जो हम आजोदि मना रहे है वह हमारे हेरोंस का बलिदान से मिली है | भारत की भूमि बलीदाल लिए है बहुत से |
हमे इस बलिदान को गलत उपयोग नहीं करना है | इस गणतन्त्र दिवस पर कुछ अपने देश के लिए करो कुछ अपने समाज की लिए करो और एक राष्ट्रीयता की भावना को जागरूक करो | अभी हम लोग हरिके से आजाद है , हर कुछ करने का अपने पास राइट्स है, कही भी जा सकते है आ सकते है , कमिनिटी बना सकते, लेकिन ऐसा पहले नही था और नहीं कुछ आजादी थी | हमारे लीडर्स ने आजादी पाने के लिए हर रास्ता अपनाया था |
1875 में आजदी पाने के लिए हिंसा का रास्ता अपनाया था जो कामयाब भी होता लेकिन हमारे कुछ लोगो ने ही उनका साथ ना देकर अंग्रेजो से मिल गए, परिणाम स्वरूप हमे आजादी मिलते मिलते रह गयी | फिर हमारे हेरोंस ने आजादी पाने के लिए हिंसा का मार्ग चुना और 1947 में हमने आजादी पाली | इससे ये सिद्ध हो गया की, हम भारतीय बिना कोई युध्द किये भी आजादी पा सकते है | दोस्तों इस आजादी कोप हमे नही खोना है इस गणतंत्र दिवस ये सोच लो की अपने देश के लिए कुछ करना है | ज्यादा कुछ ना हो सके तो बीएस ईंट तो करो अपने आस पास सफाई रखे और भारत को साफ़ मनाये |


republic day good speech in hindi  :--

गणतंत्र दिवस भारत के लिए एक बहुत हीं महत्वपूर्ण दिन है. गणतन्त्र का अर्थ होता है, जनता का जनता के द्वारा जनता के लिये शासन. गणतन्त्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है. क्योंकि इसी दिन 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था. 26 जनवरी 1930 को रावी नदी के तट पर स्वतन्त्रता सेनानियों ने पूर्ण स्वतंत्रता की घोषणा की थी.
जब 13 अप्रैल 1919 को जलियावाला बाघ की घटना हुई तो इस घटना ने ही भगत सिंह और उधम सिंह जैसे क्रांतिकारियों को जन्म दिया. क्योंकि यह घटना बहुत ही दुखदायी घटना थी इसमें जनरल डायर के नेतृत्व में अंग्रेजी फ़ौज ने बूढे ,बच्चों, महिलाओं, सहित सब लोगो को मार डाला था. इस घटना के बाद सभी का दिल आजादी की आग से जलने लगा था सब लोग भारत की आजादी के लिए बलिदान देने को तैयार थे.
26 जनवरी के दिन ही 1930 में स्वतन्त्रता सेनानियों यह प्रतिज्ञा ली कि जब तक भारत पूरी तरह से स्वतंत्र नहीं हो जाता यह आंदोलन इसी तरह चलता रहेगा. और सभी स्वतन्त्रता सेनानी 26 जनवरी 1930 से 26 जनवरी को प्रति वर्ष स्वतन्त्रता दिवस मनाने लगे, जबतक कि 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद नहीं हो गया. देश 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ और 26 जनवरी 1950 को हमारा देश भारत लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया गया. दूसरे शब्दों में कहा जाये तो भारत पर अब खुद का राज था. और अब भारत पर कोई बाहरी शक्ति शासन नहीं कर सकती थी.
भारत का संविधान लिखित एवं सबसे बड़ा संविधान है. संविधान निर्माण की प्रक्रिया में 2 वर्ष, 11 महिना, 18 दिन लगे थे. डॉ.भीमराव अम्बेडकर भारतीय संविधान समिति की प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे.
26 जनवरी को दिल्ली में राजपथ पर भारत के राष्ट्रपति के द्वारा झंडा फहराया जाता है. राष्ट्रीय गान गाया जाता है, फिर 21 तोपों की सलामी दी जाती है. फिर राष्ट्रपति द्वारा विशेष सम्मान जैसे अशोक चक्र और कीर्ति चक्र दिए जाते हैं और देश भर से चुने हुए बच्चों को बहादुरी पुरस्कार भी दिए जाते हैं.  दिल्ली के राजधानी होने और दूसरे राष्ट्रपति का निवास यहीं पर होने के कारण केन्द्रीय स्तर पर यह पर्व यहीं दिल्ली में ही मनाया जाता है. 26 जनवरी के दिन ही गवर्नर जनरल की जगह डॉ राजेंद्र प्रसाद हमारे देश के राष्ट्रपति बने थे. तब से इसी दिन भारत की राजधानी नई दिल्ली में राष्ट्रपति की राजकीय सवारी निकाली जाती है. 26 जनवरी के दिन जल सेना, वायु सेना, और थल सेना टुकड़ियों में रैली करती हुई लाल किले तक पहुँचती है.  परेड में सबसे अलग दिखने वाले सीमा सुरक्षा बल के जवान जो कैमल की सवारी लेकर परेड में हिस्सा लेते है, जो की पुरे वर्ल्ड में 1 ही ऐसी सुरक्षा बल है ! भिन्न भिन्न प्रान्तों से आये नर्तक अपने अपने प्रान्तों की वेशभूषा में अपने कार्यक्रम को प्रस्तुत करते हैं.

republic day speech hindi me :-

हमारा मात्रभूमि कई वर्षों तक ब्रिटिश सरकार के अधीन था। उस समय अंग्रेजी हुकूमत ने भारतीय लोगों को ज़बरदस्ती अपने कानून का पालन करने को कहा और ना मानाने वालों के साथ अत्याचार भी किया। कई वर्षों के संघर्ष के बाद भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों की कड़ी मेहनत और जीवन न्योछावर करने के बाद भारत को 15 अगस्त 1947 को आज़ादी मिली।
स्वतंत्रता के ढाई वर्ष के बाद भारत सरकार ने स्वयं का संविधान लागु किया और भारत को एक प्रजातांत्रिक गणतंत्र घोषित किया। लगभग 2 वर्ष, 11 महीने और 18 दिन के बाद 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान को भारत की संविधान सभा में पास किया गया। इस घोषणा के बाद से इस दिन को प्रतिवर्ष भारतीय लोग गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने लगे।

हर साल रिपब्लिक डे मनाना भारतीय लोगों और दुसरे देशों में रहने वाले भारतीय लोगों के लिए बहुत ही सम्मान की बात है। यह दिन सभी भारतीय लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है और सभी लोग बहुत ही ख़ुशी और उत्साह के साथ इस दिन को मनाते हैं।


republic day speech hindi language :-

लोग इस दिन का बड़ी बेसब्री से इंतज़ार करते हैं और कई दिन पहले से ही इसकी तैयारी करने में जुट जाते हैं। गणतंत्र दिवस के उत्सव के दिन राजपथ में एक महीने से तैयारियाँ शुरू हो जाता है और इंडिया गेट के रास्ता को सुरक्षा के नज़रिए से बंद कर दिया जाता है ताकि किसी भी प्रकार की भी आक्रामक गतिविधियाँ ना हो सकें।
भारत की राजधानी दिल्ली और सभी राज्यों के राजधानी में इस उत्सव को बहुत ही बड़े तरीके से मनाया जाता है। उत्सव के दिन सबसे पहले भारतीय तिरंगे या राष्ट्रिय द्वज को भारत के राष्टपति फहराते हैं उसके बाद भारत का राष्ट गान “जन गन मन” गया जाता है।
उसके पश्चात बाकि कार्यक्रम शुरू होते हैं जैसे भारतीय सेना का परेड, सभी राज्यों की संस्कृति को दर्शाते हुए झांकी, और भारत के शक्ति को दर्शाते मिसाइल, सांस्कृतिक और देशभक्ति गिजों पर नृत्य और आखरी में कई प्रकार के पुरस्कार वितरण किये जाते हैं।
स्कूल और कॉलेज के छात्र भी इस उत्सव को मनाने के लिए उत्सुक रहते हैं इसलिए वे भी एक महीने पहले से इसकी तैयारी में लगे रहते हैं। जिन भी छात्रों ने शैक्षणिक सत्र में खेल, पढाई या अन्य कार्यक्रमों में अच्छा किया हो उन्हें इस दिन पुरस्कार और सर्टिफिकेट दे कर सम्मान दिया जाता है।
घरों में लोग इस दिन को अपने दोस्तों, परिवार वालों और बच्चों के साथ मनाते हैं। सभी भारतीय लोग इस दिन 8 बजे अपने टीवी पर राजपथ पर होने वाले समारोह को देखने के लिए तैयार रहते हैं। इस सम्मान के दिन पर हर भारतीय व्यक्ति यह प्रण लेते है कि वो अपने संविधान की रक्षा करेंगे और देश में शांति और सद्भाव बनाये रखेंगे ताकि इससे देश को विकसित बनाने में मदद मिले।


republic day 26 january speech in hindi :-



आप सभी को सुप्रभात। मेरा नाम _____है और मैं____कक्षा में पढता हूँ / शिक्षक हूँ। जैसे की हम सब जानते हैं आज हम साब यहाँ इस विशेष अवसर पर एकत्र हुए हैं जिसे हम भारत के गणतंत्र दिवस के नाम से जानते हैं।
मैं आज के इस महान दिन में आप सभी लोगों को भारत के गणतंत्र दिवस के विषय में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताना चाहता हूँ। आप सभी लोगों का मैं शुक्रिया करना चाहता हूँ की आप लोगों ने मुझे यह अद्भुत अवसर दिया ताकि में अपने प्यारे देश के विषय में इस महान दिन पर अपने कुछ शब्द आप लोगों के समक्ष रख सकूं।
हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 से स्वराज्य बन चूका है। भारत को ब्रिटिश सरकार / हुकूमत से 15 अगस्त को आज़ादी मिली थी। परन्तु हमारे देश का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागु हुआ और हम उस दिन को पूर्ण रूप से आजादी मानते हैं इसलिए हम अपनी आज़ादी की ख़ुशी में प्रतिवर्ष यह उत्सव मनाते हैं।
इस वर्ष 2017 को हम भारतवासी, हमारे देश भारत का 68वां गणतंत्र दिवस आज मना रहे हैं। रिपब्लिक या गणतंत्र का मतलब होता है लोगों की सर्वोच्च शक्ति यानि की देश में लोगों के ऊपर अपने राजनीतिक नेता को चुनने का अधिकार होता है। हमारे महान स्वतंत्रता सेनानीयों के कड़ी मेहनत और संघर्ष के पश्चात ही भारत को पूर्ण स्वराज मिला। उन्होंने हमारे लिए बहुत कुछ किया ताकि हमें वो जुल्म सहना ना पड़े और हमारा देश भारत आगे बढ़ सके।
हमारे कुछ महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और नेताओं के नाम हैं महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री। उन्होंने लगातार कई वर्षों तक ब्रिटिश सरकार का सामना किया और हमारे वतन को आज़ाद कराया। उनके इस बलिदान को हम कभी भी भुला नहीं सकते हैं और उन्हें हमेशा एक महान उत्सव और समारोह के जैसे ही दिल से याद करना चाहिए क्योंकि उन्ही की वजह से आज हम अपने देश में आज़ादी से सांस ले पा रहे हैं।

republic day 26 January speech for students in hindi:-


मैं अपने आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, और मेरे सभी सहपाठियों को सुबह का नमस्कार कहना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम सभी यहाँ अपने राष्ट्र का 69 वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिये एकत्रित हुए हैं। ये हम सभी के लिये बेहद शुभ अवसर है। 1950 से, हम गणतंत्र दिवस को हर वर्ष ढ़ेर सारे हर्ष और खुशी के साथ मनाते हैं। उत्सव की शुरुआत के पहले, हमारे मुख्य अतिथि देश के राष्ट्रीय ध्वज़ को फहराते हैं। इसके बाद हम सभी खड़े होते हैं और राष्ट्र-गान गाते हैं जो कि भारत की एकता और शांति का प्रतीक है। हमारा राष्ट्र-गान महान कवि रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया है।
हमारे राष्ट्रीय ध्वज़ में तीन रंग और 24 बराबर तीलियों के साथ मध्य में एक चक्र है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज़ के सभी तीन रंगों का अपना अर्थ है। सबसे ऊपर का केसरिया रंग हमारे देश की मजबूती और हिम्मत को दिखाता है। मध्य का सफेद रंग शांति को प्रदर्शित करता है जबकि सबसे नीचे का हरा रंग वृद्धि और समृद्धि को इंगित करता है। ध्वज़ के मध्य में 24 बराबर तीलियों वाला एक नेवी नीले रंग का चक्र है जो महान राजा अशोक के धर्म चक्र को प्रदर्शित करता है।


26th January republic day speech in hindi :-

"Aadarniye Pracharya sir, Chhatrao, aur chhatra, aur yaha upasthit unke sabhi abhibhawako. Aaj bhot khusi ki baat hai ki desh ke pawan parv Gantantra diwas ke mauke pe hum sab yaha upasthit hai. Hmara desh bharat 15 August 1947 ko aajad hua tha. Teb se aaj tak hum aajadi se ji rhe hai."

"Lekin ye aajadi hume Aasani se nhi mili hai. Es aajadi ko pane ke liye kitne veero ne apne pran nyochar kar diye. Wo apne aakhri sans tak desh ke liye ldte rahe. Kitni mataye, bahno ne apne bete aur bhai ko kho diya. Kitne mang sune par gye. Tb jake aaj hume ye aajdi mili."

"Aaj hamare desh me  kei samajik samsyae hain, unme berojgari bhee ek badi samsya hain. Berozgari ke karan desh me  Yuvaon main bhari asantosh evm becheni hain."

"Bhrashtachar aaj hamre desh ko deemak ke tarah chaat gaya, hain, halanki PM sri Narender Modi ji ne not bandi ka fesla liya hain, umeed kerte hain ke iske bheter parinaam samne aaynege."

"Bharat main, anek parv tyohar hain, itne sare dherm hain, sabhee ke apni manyatye hain, lekin 26 January ek common events perve hain jise sab husi-khusi milke manate hain" JAi Hind


speech on republic day in hindi:-

भारत में बड़े ही धूमधाम से गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। इससे एक दिन पहले 25 जनवरी की शाम को देश के राष्ट्रपति राष्ट्र के नाम अपना संदेश देते हैं। इसके अगले दिन इंडिया गेट पर भारतीय सेना, पुलिस, बच्चे और राज्य की झांकी का आयोजन होता है। हर साल इस मौके पर एक विशिष्ट मेहमान बुलाया जाता है। इसी दिन हवा में लड़ाकू विमानों के करतब सहित मोटरसाइकिल पर स्टंट करते हुए सैनिक राष्ट्रपति को सलामी देते हुए दिखाई देते हैं। इस दिन बहुत सी सोसायटी, कॉलेज, स्कूलों आदि में भाषण प्रतियोगिता रखी जाती है। इसीलिए हम आपके लिए लाए हैं अपनी स्पीच को जोरदार बनाने की लाइनें। जिन्हें अपनी स्पीच में शामिल करके आप सभी का दिल जीत सकते हैं।
आप सभी जानते हैं कि गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश भारत का संविधान लागू हुआ था। गणतंत्र दिवस हम सभी के लिए बहुत ही गर्वपूर्ण वाला समय है। हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था। आजादी के बाद जरूरत थी हमें अपने देश के संविधान की और हमारे देश का संविधान बनाने में भीमराव अंबेडकर की अहम भूमिका थी। हमारा संविधान 26 जनवरी 1050 को अस्तित्व में आया। इससे पहले भारत में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया एक्ट (1935) लागू था। इसी वजह से हम हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। ये राष्ट्रीय त्योहार हमारे देश के लिए गर्व का प्रतीक है और यह देशभक्ति की भावना से जुड़ा है।


republic day latest speech in hindi:-


26 जनवरी आजादी से पहले भी देश के लिए एक अहम दिन था। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 1930 के लाहौर अधिवेशन में पहली बार तिरंगे झंडे को फहराया गया था। अधिवेशन में इसी दिन एक और महत्वपूर्ण फैसला लिया गया था। सभी की सहमति से लिया गया यह फैसला पूर्ण स्वराज दिवस के तौर पर इस दिन को मनाने का था। कहा गया था कि इसी दिन सभी स्वतंत्रता सेनानी स्वराज का प्रचार करेंगे। इस तरह 26 जनवरी अघोषित रूप से भारत का स्वतंत्रता दिवस बन गया। गणतंत्र दिवस के दिन होने वाली परेड आज भारत की दुनिया में पहचान बन चुकी है।
जिस दिन भारत पूरी तरह से गणतंत्र घोषित किया गया और जिस दिन देश में संविधान लागू हुआ वो दिन है 26 जनवरी 1950। इसी दिन सूर्योदय के साथ भारत की राजधानी दिल्ली में भारतीय गणराज्य के रूप में देश के नवीन युग का उदय हुआ था। इसी दिन पंडित जवाहर लाला नेहरू ने 1930 में लाहौर में रावी नदी के तट पर रात के एक बजे कांग्रेस अधिवेशन में कहा था कि- आज से हम स्वतंत्र हैं और देश की स्वतंत्रता की प्राप्ति के लिए हम अपने प्राणों को स्वतंत्रता की बलिदेवी पर होम कर देंगे और हमारी स्वतंत्रता छीनने वाले शासकों को सात समंदर पार भेजकर ही सुख की सांस लेंगे।

republic day long speech in hindi :-

भारत में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है | जो की भारत के लोगो बेहद ख़ुशी व उल्लास क साथ बनाया जाता है संप्रभु लोकतान्त्रिक गणराज्य होने के महत्व को सम्मान देने के लिए इसको मनाया जाता है जो की 26 जनवरी 1950 में भारत के संविधान के लागु होने के बाद घोषित किया गया था |

इसे ब्रिटिश शासन से भारत की एतेहासिक आज़ादी को याद करने के लिए मनाया जाता है | इस दिन को भारत सरकार द्वारा पुरे देश में राज्प्तित्र अवकाश के रूप में घोषित किया गया है | इसे पुरे देश में विद्यार्थियों द्वारा स्कुलो, कालेजो और शिक्षण संस्थान में मनाया जाता है |


भारत सरकार हर साल राष्ट्रीय राजधानी , नै दिल्ली में एक कार्यक्रम आयोजित करती है | जिसमे इंडिया गेट पर खास परेड का आयोजन होता है | अल-सुबह हे इस कार्यक्रम को देखने के लिए लोग राजपथ पर एक-जुट होने लगते है इसमें तीनो सेनाये ( जल सेना, थल सेना, वायु सेना ) विजय चोक से अपनी परेड को शुरू करती है

जिसमे तरह तरह के अस्त्र शस्त्रों का भी प्रदर्शन किया जाता है | आर्मी बैंड, एन.सी.सी केडेट्स, और पुलिस बल भी विभिन्न धुनों के माध्यम से अपनी कला का प्रदर्शन करते है | राज्यों में भी इस उत्सव को राज्यपाल की मोजुदगी में हर्ष व उल्लास के साथ मनाया जाता है |


भारत में आज़ादी के बाद “विविधता में एकता” के अस्तित्व को दिखाने के लिए देश के विभिन्न राज्य भी खास झांकिया के माध्यम से अपनी संस्कृति, परम्परा और प्रगति को प्रदर्शित करते है | लोगो द्वारा अपनी तरफ (राज्यों में प्रचलित ) लोक नृत्य प्रस्तुत किया जाता है | साथ ही गायन, नृत्य, और वाघ-यन्त्र को बजाय जाता है |

कार्यक्रम के अंत में तीनो रंगों (केसरिया, सफ़ेद और हरा ) के फूलो की बारिश वायु सेना के द्वारा की जाती है | जो आकाश में राष्ट्रीय झंडे के रूप में प्रदर्शित करने के लिए कुछ रंग – बिरंगे गुब्बारों को आकाश में छोड़ा जाता है जो बेहद सुन्दर दिखाई देते है | यह हमारे लिए बड़े गर्व की बात है हमारे भारत देश में हमारे संविधान को इतने अच्छे से मनाया जाता है | गणतंत्र दिवस की ये धूम बस भारत जैसे देख में ही हो सकती है |

republic day new speech in hindi :-

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, सभी अध्यापकगण और मेरे प्यारे मित्रों, आज हम सब यहाँ गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं !
हर साल 26 जनवरी को मनाया जाने वाला गणतंत्र दिवस, भारत के राष्ट्रीय पर्वो में से एक है ! जिसे सारे भारतवासी पूरे उत्साह,जोश और सम्मान के साथ मनाता है ! राष्ट्रीय पर्व होने के नाते इसे सभी धर्म, संप्रदाय और सभी जाति के लोग बहुत ही उल्लास के साथ मनाते हैं !
“कुछ बच्चो के मन में ये भी सवाल आता होगा, की हम 26 जनवरी को ही गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं, तो चलिए दोस्तों जानते है की इसके पीछे क्या वजह है ?
“सन् 1930 से भारत के क्रांतिकारी भारत को एक संविधान वाला देश बनाना चाहते थे, “लेकिन 26 जनवरी सन् 1950 को हमारे देश को पूर्ण स्वायत्त गणराज्य घोषित किया गया था और इसी दिन हमारा संविधान लागू हुआ था ! यही कारण है कि हर साल 26 जनवरी को भारत का गणतंत्र दिवस मनाया जाता है!

republic day speech on hindi :-

दोस्तों स्वतंत्रा बहुत ही मेहनत और परेशानियों को झेलने के बाद हमारे देश को मिल पाई है !  इसे बर्बाद ना होने दे, पढ़े लिखे विकास करे, और सबके साथ आगे बढे !
भारत माता ने हमे अन, वस्त्र, निवास आदि सबकुछ दिया है ! हमारी जरुरतो को पूरा करते आ रही है, चलो इस पुण्य दिवस पर हम प्रण ले की कदम से कदम मिलाकर इस देश को सम्मान से भर दे !
भारत से सब कुछ लेने के बाद यह ना हो की हम दूसरे देशो में जाकर बस जाये, बल्कि दूसरे देशो से अच्छी-अच्छी बाते सिखकर उनका उपयोग हम हमारे देश में करे !
भरत देश को विश्व के मानचित्र में एक मुख्य स्थान दे ! दोस्तों बहुत मुश्किल से मिली स्वतंत्रता को हम बचाये रखे. गाँधी जी, नेहरु जी, शास्त्री जी जैसे महान पुरषों के सपनों को हम साकार करें !!
आओ कुछ कर दिखाए इंडिया के झण्डे को सदा ऊँचा रखने का प्रयास जारी रखे. जय हिन्द, वन्दे मातरम्, भारत माता की जय !!
इस पवित्र दिवस को प्रति वर्ष मनाया जाता है  ! दिल्ली में 26 january का समारोह प्रतिवर्ष उत्साह  से मनाया जाता है ! सभी राज्यों के लोग आपने आपने संस्कृति का प्रदर्शन करते है ! भारतीय सेना आपने बल का प्रदर्शन करती है और सारे हथियारों को दिखती है ! सेना के जवान तरह तरह के ख़तरनाक कारनामे करते है और लोग तलिये बजा कर उनका हौसला बढ़ते है ! राष्टृपति झंडा फहराते है,और सलामी देता है ! सेना  के जवानो को देखकर हमारा मस्तिष्क गर्व से ऊंचा हो जाता है !
अलग भाषा, अलग वेश फिर भी अपना एक देश ” यह अनेकता में एकता के दर्शन हमे इस  शोभा यात्रा में होते है ! बहुत सारे राज्यो की झाँकिये अपनी ही छठ बिखरती है ! सभी राज्यों में गणतंत्र दिवस धूम-धाम से मनाये जाता है ! गणतंत्र की पूर्व संध्या को राष्टृपति राष्ट्र के नाम सन्देश देते है! कवि देवराज ने ठीक ही कहा है :-



republic day speech to hindi :-

नमस्कार मैं हूं ....(self introduction)
मैं अपने पूरे देश वासियों को गणतन्त्र दिवस की बधाई देता हूं। साथ ही आने वाले भविष्य की उज्जवल कामना करता हूं
यह तो आप सभी जानते है कि हम हल साल 26 जनवरी के दिन गणतन्त्र दिवस क्यों मनाते है। क्योंकि इस दिन हमारे देश में पूर्ण रूप से आजाद हुआ था। आज हमारे देश को आजाद हुए 70 साल और सविंधान लागु हुए 68 साल होने को जा रहा है।

अगर कोई हम से ये पूछे कि गणतन्त्र दिवस का मतलब क्यो होता है तो कम ही लोग इसका जवाब दे पायेंगे, लेकिन हम आपकों इसका मतलब क्या होता है तो कम ही लोग इसका जवाब दे पायेंगे। लेकिन हम आपकों इसका मतलब सरल शब्दों में समझाने की कोशिश करते है।


गणतंत्र का अर्थ है कि देश में रहने वाले हर एक इंसान के पास सर्वोच्च शाक्ति यानि की सबसे बड़ी शाक्ति होती है जो अपने देश के लिए सही दिशा में देश का विकास करने वाला राजनितिक नेता चुनने का अधिकार है।जो जनता के सुख- दुख को समझते हुए देश की कमान संभाल सके। इसलिए भारत एक गणतंत्र देश है। यहां की जनता ने अपना नेता प्रधानमंत्री के रूप में चुना है। स्वतंत्रता के ढाई वर्ष के बाद भारत सरकार ने स्वयं का संविधान लागु किया और भारत को एक प्रजातांत्रिक गणतंत्र घोषित किया। लगभग 2 वर्ष, 11 महीने और 18 दिन के बाद 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान को भारत की संविधान सभा में पास किया गया। इस घोषणा के बाद से इस दिन को प्रतिवर्ष भारतीय लोग गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने लगे।

एक और खास बात यह है कि भारत देश में पूर्ण स्वराज्य हमें इतनी आसानी से प्राप्त नही हुआ है।  इस आजादी के लिए हमारे देश के कई बड़े सेनानियो नें अपने प्राणों की आहुति दी है। तो कईयों ने अपनी जिंदगी में घोर कष्टों का सामना किया। और उन महान वीरों ने इतना संर्घष इसलिए किया है ताकि उनकी आगे की आने वाली पीढ़ी अपनी जिंदगी सुखी से व्यतीत कर सके। और देश को एक उज्जवल भविष्य प्रदान कर सके।

republic day unique speech in hindi :-

सभी को सुप्रभात। मेरा नाम ...... मैं कक्षा में पढ़ा है ... .. जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम यहां पर हमारे देश के विशेष अवसर पर इकट्ठे हुए हैं जिसे भारत गणतंत्र दिवस कहा जाता है। मैं आपके सामने एक गणतंत्र दिवस के भाषण का वर्णन करना चाहता हूं। सबसे पहले मैं अपने कक्षा के शिक्षक के लिए बहुत धन्यवाद कहना चाहूंगा क्योंकि उसके कारण मुझे इस स्तर पर आने के लिए इस तरह का एक शानदार अवसर मिला है और गणतंत्र दिवस के अपने महान अवसर पर अपने प्यारे देश के बारे में कुछ बोलना है ।
भारत 15 अगस्त 1 9 47 के बाद से एक स्वशासी देश है। भारत को 1 9 47 में 15 अगस्त को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता मिली जिसे हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं, हालांकि, 1 9 जनवरी से 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। 1 9 50 में भारत का संविधान 26 जनवरी को लागू हुआ था, इसलिए हम हर दिन गणतंत्र दिवस के रूप में इस दिन का जश्न मनाते हैं। 2016 में इस वर्ष, हम भारत के 67 वें गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहे हैं। (Republic day speech in Hindi)

गणतंत्र का मतलब देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति है और केवल जनता को अपने प्रतिनिधियों को सही दिशा में देश का नेतृत्व करने के लिए राजनीतिक नेता के रूप में चुनने का अधिकार है। इसलिए भारत एक गणतंत्र देश है जहां जनता ने अपने नेताओं को राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री के रूप में चुना है। हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत में "पूर्ण स्वराज" के लिए बहुत कुछ संघर्ष किया है। उन्होंने ऐसा किया कि उनकी अगली पीढ़ी संघर्ष और नेतृत्व वाले देश के आगे आगे रह सकें।


republic day speech with quotes in hindi :-

Sbhi ko suprbhaat. mara naam ...... main kksaa men pdha hai ... .. jaisaa ki hm sbhi jaante hain ki hm yhaan pr hmaare desh ke vishes avsr pr iktthe hue hain jise bhaart gantntr divs khaa jaataa hai. main aapke saamne ek gantntr divs ke bhaasn kaa vrnn krnaa chaahtaa hun. sbse phle main apne kksaa ke shiksk ke lie bhut dhnyvaad khnaa chaahungaaa kyonki uske kaarn mujhe is str pr aane ke lie is trh kaa ek shaandaar avsr milaa hai aur gantntr divs kapne mhaan avsr pr apne pyaare desh ke baare men kuchh bolnaa hai . (Republic day speech in Hindi)

Nahi Sirf Jashn Manana,  Nahi Sirf Jhande Lehrana,  Yeh Kaafi Nahi Hai Watanparasti,  Yadon Ko Nahi Bhulana,  Jo Qurbaan Hue,  Unke Lafzon Ko Aage Badhana,  Khuda Ke Liye Nahi, Zindgi Watan K Liye Lutana.  Happy Republic Day!
bhaart 15 agast 1 9 47 ke baad se ek svshaasi desh hai. bhaart ko 1 9 47 men 15 agast ko british shaasn se svtntrtaa mili jise hm svtntrtaa divs ke rup men mnaate hain, haalaanki. 1 9 jnvri se 26 jnvri ko hm gantntr divs ke rup men mnaate hain. 1 9 50 men bhaart kaa snvidhaan 26 january ko laagau huaa thaa. islie hm hr din gantntr divs ke rup men is din kaa jshn mnaate hain. 2016 men is vrs, hm bhaart ke 69 ven gantntr divs kaa jshn mnaa rhe hain.

 Ye Nafrat Buri Hai, Na Paalo Isay  Dilo Main Khalish Hai ,Nikalo Isay  Na iska, Na uska, na tera, na mera,  Ye watan hai hum sabka, Bacha Lo ise. Happy Republic Day! 

islie bhaart ek gantntr desh hai jhaan jntaa napne naaon ko raastrpti. prdhaan mntri ke rup men chunaa hai. hmaare mhaan bhaartiy svtntrtaa saaniyon ne bhaart men "purn svraaj" ke lie bhut kuchh snghrs kiyaa hai. unhonnaisaa kiyaa ki unki agali pidhei snghrs aur netritv vaale desh kaagaaagae rh sken. (Republic day speech in Hindi)

 Mai iska Hanuman hoon,  Ye desh mera Ram hai.  Chhati cheer ke dekh lo meri,  Andar baithaa Hindustaan hai.  I Love My India.  Happy Republic Day!
hmaare mhaan bhaartiy naaon aur svtntrtaa saaniyon kaa naam mhaatmaa gaaandhi, bhgat sinh. chndr shekhr ajd, laalaa laajpt raay, srdaar bllbh bhaaee ptel. laal bhaadur shaastri aadi hain. unhonne bhaart ko ek svtntr desh bnaane ke lie british shaasn ke khilaaf lgaaataar ldee. hm apne desh ke prti unke blidaanon ko kbhi nhin bhul skte hain hmen un mhaan avsron pr yaad rkhnaa chaahiaur unhen slaam krnaa chaahie. yh kevl unke kaarn hi snbhv ho gayaa hai ki hm apne mn se soch skte hain aur binaa kisi ke bl ke hmaare desh men svtntr rup se ji skte hain.


republic day welcome speech in hindi :-

मेरे सम्मानित प्रधान महोदया, मेरे सम्मानित सर और मैडम और मेरे सभी सहयोगियों को अच्छी सुबह मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा कि मुझे हमारे गणतंत्र दिवस पर कुछ बोलने का इतना बड़ा मौका दें। मेरा नाम है ... .. मैं कक्षा में पढ़ा ... ..

आज, हम सब हमारे देश के 67 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिए यहां हैं। यह हम सभी के लिए एक महान और शुभ अवसर है। हमें एक दूसरे से बधाई देना चाहिए और हमारे राष्ट्र के विकास और समृद्धि के लिए भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। 26 जनवरी को हम हर साल भारत में गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि भारत के संविधान इस दिन अस्तित्व में आया। हम 1 9 50 से जनवरी 1 9 50 तक भारत के गणतंत्र दिवस को नियमित रूप से मना रहे हैं। 1 9 50 में भारत संविधान लागू हुआ था। (Republic day speech in Hindi)

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां जनता को देश की अगुवाई करने के लिए अपने नेताओं का चुनाव करने के लिए अधिकृत किया गया है। डॉ राजेंद्र प्रसाद हमारे भारत के पहले राष्ट्रपति थे। चूंकि हमें 1 9 47 में ब्रिटिश शासन से आजादी मिली, हमारे देश ने बहुत विकसित किया है और शक्तिशाली देशों में गिना जाता है। कुछ घटनाक्रमों के साथ, कुछ कमियां भी ऐसी असमानता, गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, निरक्षरता आदि पैदा हुई हैं। आज हमें देश में इस तरह की समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिज्ञा करने की आवश्यकता है ताकि हमारे देश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश बना सकें।


republic day speech in hindi for class 3 :-

Mere sammaanit pradhaan mahodayaa. mere sammaanit sar aur maiḍaam aur mere sabhee sahayogiyon ko achchhee subah main aapako dhanyavaad denaa chaahoongaa ki mujhe hamaare gaṇaatntr divas par kuchh bolane kaa itanaa badaa maukaa den. Meraa naam hai ... ..
Main kakṣaa men paḍhxaa ... .. Aaj, ham sab hamaare desh ke 67 ven gaṇaatntr divas ko manaane ke lie yahaan hain. Yah ham sabhee ke lie ek mahaan aur shubh avasar hai. Hamen ek doosare se badhaa_ii denaa chaahie aur hamaare raaṣṭr ke vikaas aur samriddhi ke lie bhagavaan se praarthanaa karanee chaahie. (Republic day speech in Hindi)

republic day speech in hindi for class 5 :-

मैं अपने सम्मानित प्रिंसिपल, महोदय, महोदया और मेरे प्यारे सहयोगियों को अच्छी सुबह बताना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम अपने देश के 67 वें गणतंत्र दिवस को मनाने के लिए यहां मिलते हैं। यह हम सभी के लिए बहुत शुभ अवसर है। 1 9 50 से, हम हर साल बहुत खुशी और खुशी के साथ गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। जश्न शुरू करने से पहले, गणतंत्र दिवस के हमारे मुख्य अतिथि ने भारत के राष्ट्रीय ध्वज को फहराया। तब हम सभी खड़े होकर हमारे भारतीय राष्ट्रीय गान जीते हैं जो भारत में एकता और शांति का प्रतीक है। हमारे राष्ट्रीय गान महान कवि रविंद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखे गए हैं। (Republic day speech in Hindi)

हमारे राष्ट्रीय झंडे में तीन रंग और एक चाक है जिसमें 24 समान छड़ हैं। हमारे भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के सभी तीन रंगों का कुछ अर्थ है।

हमारे ध्वज का सबसे बड़ा भगवा रंग हमारे देश की ताकत और साहस को दर्शाता है। बीच का सफेद रंग शांति को इंगित करता है, हालांकि हरे रंग के रंग में वृद्धि और समृद्धि का संकेत मिलता है। महान अशोक के धर्म चक्र का संकेत करते हुए 24 समान प्रवक्ता वाले केंद्र में एक नौसैनिक नीले रंग का चक्र है। (Republic day speech in Hindi)

हम 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का जश्न मनाने के रूप में भारतीय संविधान गणतंत्र दिवस समारोह में 1950 में इस दिन पर अस्तित्व में आया, एक बड़ा व्यवस्था जगह नई दिल्ली में भारत सरकार द्वारा राजपथ पर इंडिया गेट के सामने ले जाता है। हर साल, मुख्य अतिथि (अन्य देश के प्रधान मंत्री) को "अतीथी देओ भव" कहने के उद्देश्य के साथ-साथ इस अवसर की महिमा बढ़ाने के लिए आमंत्रित किया जाता है। भारतीय सेना गणतंत्र दिवस परेड करती है और राष्ट्रीय ध्वज का सलाम करती है भारतीय संस्कृति और परंपरा की एक बड़ी प्रदर्शनी भी भारत के विभिन्न राज्यों द्वारा भारत में विविधता में एकता दिखाने के लिए होती है।





Note:- this article is written by many writers and we are checking it regularly and then we publish it though we are not responbsible for any type of Normal mistake in content but if you see any mistake then contact us to report that and also you can give us suggestion to make our website more better than before. thank you for read this and stay tuned with us


Sharing Is Sexy ♥